खेल निदेशालय ने आवासीय केंद्रों के प्रशिक्षकों का किया सम्मान, मानदेय बढ़ाकर किया 62 हजार रुपए प्रतिमाह

खेल निदेशालय ने आवासीय केंद्रों के प्रशिक्षकों का किया सम्मान, मानदेय बढ़ाकर किया 62 हजार रुपए प्रतिमाह
रांची

टीम sportsjharkhand.com

 

झारखंड के खेल प्रशिक्षकों की बहुप्रतीक्षित मांग को सम्मान देते हुए शुक्रवार को खेल निदेशालय ने प्रशिक्षकों को सम्मानजनक मानदेय देने का अपना वायदा पूरा कर दिया। वित्त विभाग के निर्देशानुसार निदेशालय में कार्यरत 3 प्रशिक्षकों का मानदेय 62,800 रुपए कर दिया गया है। जबकि अन्य प्रशिक्षकों का मानदेय 60,400 रुपए प्रतिमाह कर दिया गया है। सरकार के इस निर्णय के बाद प्रशिक्षकों में खुशी की लहर है। 2005 में जब पहली बार प्रशिक्षकों की नियुक्ति हुई थी तो मानदेय मात्र 5000 रुपए था। पता हो कि इससे पहले झारखंड खेल प्राधिकरण (SAJHA/साझा) द्वारा संचालित आवासीय केंद्रों के प्रशिक्षकों का भी मानदेय बढ़ाया जा चुका है।

मानदेय बढ़ाए जाने पर खेल प्रशासकों, प्रशिक्षकों व खेल प्रेमियों ने विभागीय मंत्री व अधिकारियों का धन्यवाद ज्ञापित किया है।

कुछ प्रशिक्षकों का इंतजार और लंबा हुआ

निदेशालय व SAJHA के ऐतिहासिक निर्णय के बावजूद कुछ प्रशिक्षकों को अब भी मानदेय बढ़ने का इंतजार है। आशा है कि निदेशालय व SAJHA उन प्रशिक्षकों की भी जल्द ही सुनेगा।